क्या एचएलए-बी 27 परीक्षण जो पहले पॉज़िटिव था वो बाद में नेगेटिव हो सकता है?

क्या ऐसा आपके साथ कभी हुआ है?

आपका  एचएलए-बी 27 परीक्षण जो पहले पॉज़िटिव था वो  बादमें नेगेटिव  हो गया ? क्या आपने ऐसे विज्ञापन देखे है जिसमें कहा गया हो की कोई इलाज से आपका HLA B २७ नेगेटिव कर दिया जाएगा?

तकनीकी रूपसे, यह कभी नहीं हो सकता है । HLA-b27 एक जीन है और रक्तसमूह की तरह यह कभी नहीं बदल सकता है।उस मामलेमें, क्या गलत हो सकता है? 

आइए अब समझते हैं कि एचएलए-बी 27 जीन का परीक्षण कैसे किया जाता है।

HLA B २७ टेस्ट तीन अलग पद्धति से की जाती है—

Microlymphocytotoxicity (MLCT) assay 

Flowcytometry (FC) 

DNA based typing using a Polymerase chain reaction based assay (PCR)

इन विधियों के बीच, पीसीआर आधारित विधि सबसे सटीक/ अच्छी है।

लैब्ज़ अलग अलग पद्धति से HLA B २७ टेस्ट करते है और इसके चलते कभी कभी HLA बी २७ के रिपोर्ट में फ़रक आ सकता है। 

कुछ मरीज़ जो फ्लोसाइटोमेट्री पद्धति से HLA बी २७ नेगेटिव आते हैं;  उनकी टेस्ट पीसीआर पद्धति से पॉज़िटिव आ सकती हैं।

फ़्लोसाइटोमेट्री से कभी कभी रिपोर्ट  अनिश्चित ’(अनिर्णायक) आ सकती है, जिसे पीसीआर आधारित पद्धति से पुष्टि करने की आवश्यकता होती है। तो अगली बार जब आप HLA B २७ टेस्ट करे तब PCR पद्धति से ही करे। लैब से PCR पद्धति की माँग करे।

अगर आपने विज्ञापन देखे है जिनमे इलाज से HLA B २७ नेगेटिव करने की बात कही गयी हो तो उनपर विश्वास नहीं करे । यह मुमकिन नहीं है।

Image courtesy: Free Vectors via http://www.vecteezy.com

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.